Breaking News

क्यों जयपुर में प्रॉपर्टी, जमीन-जायदाद में निवेश करना है फायदेमंद, जयपुर में प्रॉपर्टी खरीदना लाभदायक है

 क्यों जयपुर में निवेश करना है फायदेमंद


जयपुर। अगले दस साल में उत्तर भारत में चंडीगढ़ के बाद जयपुर दूसरा ऐसा शहर होगा, जहां जमीन-जायदाद की कीमतें आसमान पर होंगी। प्रॉपर्टी विशेषज्ञ यह बात यूं ही नहीं कर रहे हैं। दरअसल जयपुर में प्रॉपर्टी ग्रोथ का हर वो मटेरियल है जो उसे हॉट बनाता है, इसलिए यहां प्रॉपर्टी खरीदना लाभदायक है। ऐसे ही कुछ कारणों पर एक नजर डालते हैं।

क्या होगा:


- जयपुर के चारों तरफ रिंग रोड बनने के बाद शहर से दूर टाउनशिप में जमीन की खरीद-फरोख्त तेज होगी।
- प्रस्तावित दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर से राजस्थान में औद्योगिक विकास तेज होगा


- मेट्रो रेल, बीआरटीएस कॉरिडोर की वजह से लोगों को क्वालिटी ट्रांसपोर्ट फैसिलिटी मिलेगी।
क्या हुआ:
- घाट की गुणी में टनल बनने के बाद आगरा रोड पर आवाजाही आसान हो गई। इस वजह से इस इलाके में जमीन के भाव एक-डेढ़ साल में ही 25 से 50 फीसदी तक बढ़ गए। आगरा रोड पर बस्सी तक आवासीय योजनाओं का काम तेज हो गया है।
- दिल्ली रोड पर हीरो मोटर्स और एरिक्सन जैसी कंपनियों के आने से लोगों को जहां रोजगार मिला, वहीं रेंट प्रॉपर्टी की मांग में बढ़ोतरी हुई है।
- अजमेर रोड पर ट्रैफिक की समस्या से बचने के लिए यहां डबल स्टोरी एलिवेटेड रोड बनाया गया है।
- अजमेर रोड पर ही भारत का सबसे बड़ा सेज़ महिन्द्रा वर्ल्ड सिटी अजमेर रोड जयपुर। 




लकी है जयपुर:


अगर एक शहर सामरिक दृष्टि के तीन-तीन महत्वपूर्ण हाईवे से जुड़ा हुआ तो आप उसे लकी ही कहेंगे। पिंकसिटी के साथ ऐसा ही है। यह शहर दिल्ली-मुंबई हाईवे यानी एनएच 8 के साथ एनएच 11 (जयपुर मध्यप्रदेश) और एनएच 12 (बीकानेर-आगरा) से भी जुड़ा हुआ है।



 कमर्शियल प्रोजेक्ट भी हैं वजह:

जयपुर में वर्ल्ड ट्रेड पार्क जैसे प्रोजेक्ट ने कॉमर्शियल स्पेस को नए सिरे से परिभाषित किया है। सिटी प्लस, क्रिस्टल मॉल, क्रिस्टल पॉम और क्रिस्टल कोर्ट जैसे प्रोजेक्ट जयपुरवासियों की क्वालिटी लाइफ को बढ़ाया है। इनसे जयपुर के लोगों को एक छत के नीचे शॉपिंग की सुविधा मिली है।






रिंग रोड से होगा और तेजी से विकास:

आने वाले समय में यह रोड जयपुर के लिए सबसे महत्वपूर्ण बन जाएगी। अभी इस प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। फेज 1 और फेज 2 में जहां 47 किमी रोड अजमेर रोड, डिग्गी रोडटोंक रोड और आगरा रोड को जोड़ेगी। वहीं, फेज़ 3 की रोड 97.75 किमी की होगी जो आगरा रोड, दिल्ली रोड, सीकर रोड, कालवाड़ रोड, सिरसी रोड और बाद में अजमेर रोड को जोड़ेगी। इससे रोड के बनने के बाद शहर के चारों तरफ प्रॉपर्टी के कई प्रोजेक्ट आने की संभावना बढ़ जाएगी।

जल्द बनेगा अपार्टमेंट कानून:


सरकार ने जयपुर के प्रॉपर्टी बाजार पर निगरानी रखने और इसे नियमित करने के लिए अपार्टमेंट कानून बनाने की घोषणा की है। इससे लोगों को फायदा मिलेगा। जहां एक तरफ कस्टमर और निवेशकों को सुरक्षा मिलेगी वहीं प्रॉपर्टी मार्केट पर भी कानून की नजर रहेगी।



सबसे वड़ा कारण, कीमत में बढ़ोतरी:


मेट्रो सिटी जयपुर प्रॉपर्टी विशेषज्ञों की बातों पर विश्वास करें तो पिछले एक वर्ष के दौरान जयपुर में जमीन जायदाद की कीमतों में 10 से 20 फीसदी की औसत वृद्धि हुई है। जगतपुरा और अजमेर रोड जैसे क्षेत्रों में कीमतें तेजी से बढ़ी है। वहीं, सीकर रोड जैसे इलाकों में वृद्धि सामान्य रही है ।
सोजन्य - रवींद्र प्रताप सिंह ..रीऐलिटी एक्स्पर्ट